Hanuman Shabar Mantra

on

अपने प्रिय देव को प्रसन्न करने हेतु भक्त तरह-तरह से उनकी पूजा-आराधना करते है | मंत्र द्वारा देव आराधना करना देव कृपा प्राप्त करने का एक उत्तम मार्ग है | मन्त्रों के मुख्य रूप से तीन प्रकार है : वैदिक मंत्र , बीज मंत्र और शाबर मंत्र | आज हम आपको हनुमान जी के कुछ प्रभावी शाबर मंत्र/Hanuman Shabar Mantra व उनके प्रयोग के विषय में जानकारी देंगे | जिनके उपयोग से आप न केवल अपने जीवन को सुखमय बना सकते है बल्कि दूसरों का भी भला कर सकते है |

शाबर मंत्र देशी भाषा में लिखे गये बहुत ही सरल मंत्र होते है जो स्वतः ही सिद्ध होते है | शाबर मन्त्रों को सिद्ध करने की आवश्यकता नहीं होती किन्तु इनके प्रयोग करने से पहले इन मन्त्रों को जाग्रत करना आवश्यक है | यदि 21 दिनों तक लगातार कुछ समय के लिए शाबर मंत्र का जप किया जाए तो इस मंत्र में परिपक्वता आने लगती है |

कलियुग में हनुमान जी की उपासना करना शीघ्र फल देने वाला माना गया है | ऐसे में शाबर मंत्र/Hanuman Shabar Mantra द्वारा हनुमान जी की आराधना सबसे शीघ्र फल देता है | जो भक्त नियमित रूप से हनुमान जी की आराधना करते आ रहे है | उन्हें समय-समय पर चौला आदि चढाते आये है | व अपने प्रिय देव के रूप में हनुमान जी को देखते है उनके लिए हनुमान जी के शाबर मंत्र विशेष रूप से प्रबल सिद्ध हो सकते है |

शाबर मन्त्रों(Hanuman Shabar Mantra) के विषय में ऐसी कहावत है कि सभी शाबर मंत्र गुरु गोरखनाथ जी और नवनाथ चौरासी सिद्धो द्वारा लिखे गये थे | सभी शाबर मंत्र ग्रामीणभाषा में लिखे गये है व इनमें दुहाई-अमुख-आदेश जैसे शब्दों का प्रयोग अधिक देखने को मिलता है |

अधिकांशतः शाबर मन्त्रों का प्रयोग : रक्षा घेरा बनाने, भूत-प्रेत दूर करने, झाड़ा देने, नजर दोष दूर करने, भय दूर करने, डरावने सपने दूर करने में किया जाता है | इसके अतिरिक्त वशीकरण के लिए भी शाबर मंत्र प्रसिद्द है | वैसे हर प्रकार की बाधा निवारण में अलग-अलग शाबर मंत्रो का प्रयोग देखने को मिलता है |

हनुमान जी के 4 प्रमुख शाबर मंत्र :

1. बाहरी शक्तियों से स्वयं की रक्षा के लिए  हनुमान शाबर मंत्र :

।।ओम गुरुजी को आदेश गुरुजी को प्रणाम, धरती माता धरती पिता, धरती धरे ना धीरबाजे श्रींगी बाजे तुरतुरि आया गोरखनाथमीन का पुत् मुंज का छड़ा, लोहे का कड़ा हमारी पीठ पीछे यति हनुमंत खड़ा, शब्द सांचा पिंड काचास्फुरो मन्त्र ईश्वरो वाचा।। मंत्र प्रयोग विधि : हनुमान जी का यह शाबर मंत्र किसी नकारात्मक शक्ति से रक्षा के लिये या भय आदि से मुक्ति के लिए प्रयोग किया जाता है | लगातार 21 दिनों तक एक सीमित मात्रा में उपरोक्त मंत्र के जप करें | 21 दिन बाद आप इस मंत्र को इस प्रकार से प्रयोग में लाये : मंत्र को सात बार जप करें व हनुमान जी का ध्यान करते हुए अपने चारों तरफ या पीड़ित के चारों तरफ चाक़ू से गोल घेरा बना दे | ऐसा करने से स्वयं हनुमान जी उस जातक की रक्षा करते है जब तक वह इस घेरे में रहता है | इस मंत्र का प्रयोग आप किसी मसान साधना के दौरान भी अपनी रक्षा हेतु कर सकते है |

2. हनुमान जी के साक्षात् दर्शन प्राप्ति हेतु शाबर मंत्र :

ॐ हनुमान पहलवान
वर्ष बारहा का जवान |
हाथ में लडडू मुख में पान |
आओ आओ बाबा हनुमान |
न आओ तो दुहाई महादेव गौरा पार्वती की |
शब्द साँचा |
पिंड काँचा |
फुरो मंत्र ईश्वरो वाचा | मंत्र प्रयोग विधि : अपने शुभ कार्य की शुरुआत किसी मंगलवार या शनिवार से करें | सुबह प्रातः हनुमान जी के मंदिर जाए व उन्हें सिन्दूर का चौला चढ़ाये और जनेऊ ,खड़ाऊ ,लंगोट, दो लडडू और ध्वजा भी चढ़ाये | इस साधना के दौरान आप प्रत्येक मंगलवार को व्रत रखे | लाल वस्त्र धारण करके लाल चंदन की माला से मंत्र का जप शुरू करे | मंत्र की 10 माला का जप प्रतिदिन करें |  शनिवार को गुड़ और चने का वितरण करना है | ब्रह्मचर्य कर कठोरता से पालन करें और सदैव स्वयं को पवित्र रखे | इस प्रकार से लगातार 3 माह तक इस कार्य को लगातार करते रहने से हनुमान जी के साक्षात् दर्शन प्राप्त होते है |

3. कार्य सिद्ध करने हेतु हनुमान शाबर मंत्र :

हनुमान जाग – किलकारी मार तू हुंकारे – राम काज सँवारे ओढ़ सिंदूर सीता मैया का  तू प्रहरी राम द्वारे मैं बुलाऊँ , तु अब आ राम गीत तु गाता आ नहीं आये तो हनुमाना श्री राम जी ओर सीता मैया कि दुहाई शब्द साँचा – पिंड कांचा फुरो मन्त्र ईश्वरोवाचा | मंत्र प्रयोग विधि : हनुमान जी के इस शाबर मंत्र को प्रयोग में लाने से पहले इसे परिपक्व अवश्य करें | किसी योग्य गुरु के सानिध्य में आप लगातार 21 दिनों तक हनुमान जी के उपरोक्त शाबर मंत्र की एक माला का जप प्रतिदिन करें | मंत्र का जप हनुमान जी के प्रति श्रद्धा और विश्वास को रखते हुए करें बिना किसी कपट भाव के करें |

4. हनुमान शाबर वशीकरण मंत्र : 

ओम नमो महावीर,हनुमन्त वीर धाय-धाय चलो,अपनी मोहिनी चलाओ अमुक के नैन बाँध, मन बाँध,काया बाँध घर बाँध,द्वार बाँध मेरे लिये ना बाँधे तो मेरी आण मेरे गुरू की आण,छु वाचापुरी  || प्रयोग विधि : दूसरों को अपने वश में करने के लिए इस शाबर मंत्र/Hanuman Shabar Mantra का प्रयोग किया जाता है | उपरोक्त मंत्र में अमुक शब्द के स्थान पर जिस पुरुष या महिला को अपने वश में करना है उसका नाम बोले | पहले 21 दिनों तक उपरोक्त मंत्र को परिपक्व कर ले | बाद में मंत्र का प्रयोग करते समय ही अमुख के स्थान पर वशीकृत का नाम बोलना है |

किसी को भी वश में कर सकता है ये ‘हनुमान शाबर मंत्र’

हनुमान शाबर मंत्र

मंत्रों की महत्ता के बारे में तो आप जानते ही हैं. हर बिगड़े काम को बनाने के लिए मंत्र मौजूद हैं. बस आपको उनका सही उच्चारण करना आना चाहिए. आज हम आपको ‘हनुमान शाबर मंत्र’ के बारे में बताएंगे. जानिए, हनुमान शाबर मंत्र क्या हैं? उसकी महत्ता क्या है और उनका उच्चारण कैसे किया जाता है? 2/9 2

किसने लिखें शाबर मंत्र

शाबर मंत्र अत्यधिक शक्तिशाली होते है और बहुत जल्द ही परिणाम लाते हैं. ऐसा माना जाता है की शाबर मंत्र गुरु गोरखनाथ जी और नवनाथ चौरासी सिद्धों ने लिखे थे. यह मंत्र आमतौर पर ग्रामीण भारतीय भाषाओं में हैं. हालांकि ये मंत्र हिंदू धर्म में ही नहीं बल्कि इस्लाम में और अन्य धर्मों में भी हैं. 3/9 3

शाबर मंत्रों का उद्देश्य

हनुमान शाबर मंत्र एक तरह का वशीकरण मंत्र होता है. शाबर मंत्रों से किसी भी व्यक्ति को उन्हें उपयोग में लेने से पहले सिद्धि हासिल करने के जरुरत नहीं होती है क्योंकि वे पहले से ही सिद्ध मंत्र हैं. 4/9 4

शाबर मंत्रों का उद्देश्य

सभी शाबर वशीकरण मंत्र अपने सपनों को पूरा करने के लिए या किसी उद्देश्य को पूर्ण करने के लिए उपयोग में लाये जाते हैं. शाबर वशीकरण मंत्र विशेषज्ञ अपनी इच्छा के अनुसार आप के लिए शाबर मंत्र प्रदान कर सकता है. इतना ही नहीं, शाबर वशीकरण मंत्र विशेषज्ञ शाबर मंत्रों का उपयोग करने और उनका सही तरह से उच्चारण करने का दिशा-निर्देश भी देते हैं. 5/9 5

हनुमान मंत्र और शाबर मंत्र

हनुमान मंत्र और शाबर मंत्र, दोनों का ही प्रयोग वशीकरण के लिए किया जाता हैं. हनुमान मंत्र और शाबर मंत्र दोनों ही बहुत शक्तिशाली है. दोनों मंत्रों में केवल एक ही अंतर है, कि हनुमान मंत्र साधने के लिए सिद्धि‍ करना जरुरी है पर शाबर वशीकरण मंत्र के लिए सिद्धि‍ करना जरुरी नहीं हैं. 6/9 6

हनुमान मंत्र और शाबर मंत्र

हनुमान मंत्र और शाबर वशीकरण मंत्र में एक समानता भी है कि दोनों ही मंत्र विशेषज्ञ द्वारा दिशा-निर्देश दिए जाने के बाद ही सही तरह से उपयोग में लाए जा सकते हैं. वशीकरण मंत्र विशेषज्ञ मंत्र बताने के साथ-साथ हमें उससे सही तरीके से इस्तेमाल करने के निर्देश भी देते हैं. 7/9 7

हनुमान शाबर मंत्र की ताकत

हुनमानजी , भगवान शिव का अवतार हैं. भगवान हनुमान के रूप में तेजी है जैसी तेजी हमारे मन में होती है क्यूंकि उनकी गति वायु देव की तरह हैं. भगवान हनुमान का अपनी इन्द्रियों पर पूरा नियंत्रण है जैसे वायु देव का. शाबर हनुमान मंत्र दुश्मनों के द्वारा फैलाई गयी नकारात्मक ऊर्जा को दूर करने की क्षमता रखता है. 8/9 8

कैसे करें हनुमान शाबर मंत्र का जाप

हनुमान शाबर मंत्र का जाप करने के लिए काला कपड़ा पहनकर शुक्रवार से शुरुआत करें. इस मंत्र की माला लें और उस माला का 5 बार जाप करें लगातार 5 दिन तक. साधना के अंत में भगवान हनुमान की पूजा और माला के लिए एक गढ्ढा खोदें और जमीन में ये माला डाल दें. 9/9 9

हनुमान शाबर मन्त्र

हनुमान जाग.—- किलकारी मार.—- तू हुंकारे.—- राम काज सँवारे.—- ओढ़ सिंदूर सीता मैया का.—- तू प्रहरी राम द्वारे.—- मैं बुलाऊँ , तु अब आ.—- राम गीत तु गाता आ.—- नहीं आये तो हनुमाना.—- श्री राम जी ओर सीता मैया कि दुहाई.—- शब्द साँचा.—- पिंड कांचा.—- फुरो मन्त्र ईश्वरोवाचा.-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *