Mahakal Mantra

ज़िंदगी में किसी भी वजह से आया बुरा वक्त बड़ा मुश्किल होता है। किंतु व्यावहारिक तौर पर इस सच्चाई को भी नकारा नहीं जा सकता कि अच्छाई का संग मिलने से ही बुराई दूर होने लगती है। इसी सोच व आस्था से हिन्दू धर्म परंपराओं में बुरे वक्त, हालात या बदहाली से बचने के लिए शिव उपासना मंगलकारी मानी गई है। क्योंकि शिव भक्ति का मूल भाव ही शुभ को अपनाना है।

खासतौर पर भगवान शिव का महाकाल स्वरूप काल के हर भय को दूर करने वाला माना गया है। शिव के इस अद्भुत स्वरूप की उपासना का फल केवल काल या मृत्यु को टालने के ही अर्थ में ही नहीं है, बल्कि संदेश है कि शिव भक्ति काल यानी वक्त को भी अनुकूल बनाने वाली है।

ऐसे ही भावना से शिवपुराण में आए एक मंत्र व ज्योर्तिलिंग महाकालेश्वर का स्मरण हर रोज ध्यान मात्र ही, न केवल बड़ा ही संकटमोचक व मंगलकारी माना गया है बल्कि सारे ग्रह दोष दूर कर गृह दशा सुधार वाला भी।

हर दिन के अलावा शिव भक्ति के खास दिनों जैसे सोमवार, प्रदोष या चतुर्दशी तिथि में तो इन आसान व अचूक शिव मंत्रों का स्मरण खासतौर पर उज्जैन स्थित श्रीमहाकालेश्वर ज्योर्तिलिंग के सामने या संभव न होने पर किसी भी ज्योर्तिलिंग या उनकी तस्वीर के सामने भी बोलें तो यह पलों में दु:ख व दरिद्रता दूर करने वाला माना गया है। अगली तस्वीरों पर क्लिक कर जानिए यह शिव मंत्र, श्रीमहाकालेश्वर ज्योर्तिलिंग का मंगलकारी ध्यान मंत्र व आसान पूजा उपाय –chant this mahakaal mantra for keep away problems

– घर या मंदिर में पूजा करने पर सफेद वस्त्र पहन गाय के दूध मिले पवित्र जल में अक्षत, तिल व सफेद चंदन मिलाकर अगली तस्वीर में बताए मंत्र के साथ शिवलिंग पर जलधारा अर्पित कर लिंग के साथ श्रीमहाकालेश्वर की तस्वीर पर चंदन, बिल्वपत्र, फूल, जनेऊ चढ़ाएं। दूध या मावे की मिठाई का भोग लगाकर शिव की धूप, दीप, कर्पूर आरती कर कष्टों से छुटकारे या संकटमुक्त जीवन की कामना करें।

– शिवलिंग पर चढ़ाए जल को चरणामृत रूप में ग्रहण करें व शिवपुराण के इस मंत्र का रुद्राक्ष की माला से यथाशक्ति जप भी मनोरथसिद्धि करने वाला होता है।

श्रीमहाकालेश्वर ज्योर्तिलिंग स्मरण मंत्र –

“अवन्तिकायां विहितावतारम् मुक्तिप्रदानाय च सज्जनानाम। 
अकालमृत्यो: परिरक्षणार्थं वन्दे महाकालमहं सुरेशम्।।

शिवपुराण का शिव मंत्र – ” ऊँ नम: शिवाय शुभं शुभं कुरु कुरु शिवाय नम: ऊँ”

भगवान शिव अपने भक्तों पर जल्द प्रसन्न हो जाते हैं. जटाधारी शिव शंकर को प्रसन्न करने में किसी भी मनुष्य को कठिनाईयों का सामना नहीं करना पड़ता है.

महादेव के महामृत्युंजय मंत्र का जाप करने से सारे कष्ट दूर हो जाते हैं. इस मंत्र के जाप में अपार शक्ति है. महादेव से ज्यादा पूज्यनीय और कोई नहीं है. महादेव के मंत्र महाशक्तिशाली है. इसके अचूक असर होते हैं. इन मंत्रों का जाप करने मात्र से व्यक्ति की सारी चिंताएं प्रभु तुरंत दूर कर देते हैं. ये वो महामंत्र है जिनका जाप करने वाला सफलता की सीढ़ी चढ़ता जाता है. शिवजी के महामृत्युंजय मंत्र को महामंत्र कहा जाता है. इसमें भगवान शिव के महामृत्युंजय रूप से लंबी आयु की प्रार्थना की जाती है. यह मंत्र कई तरह से प्रयोग में लाया जाता है.

मंत्र के जाप करने के नियम-

मंत्र का जाप सुब-शाम किया जाता है.

परेशानी और संकट के समय कभी भी इस मंत्र का जाप किया जाता है.

जाप रुद्राक्ष की माला से जाप करना बेहतर होगा.

भगवान शिव के चित्र या शिवलिंग के सामने इस मंत्र का जाप करना चाहिए.

मंत्र जाप के पहले शिवजी को बेलपत्र और जल अर्पित करें.

अलग-अलग समस्याओं के लिए अचूक मंत्र-

एकाक्षरी महामृत्युंजय मंत्र- ‘हौं’. स्वास्थ्य अच्छा बना रहे इसके लिए सुबह उठकर इस मंत्र का जाप करें.

त्रयक्षरी महामृत्युंजय मंत्र- ‘ऊं जूं स:’ जब आपको छोटी-छोटी बीमारियां परेशान करें तो ये मंत्र प्रभावशाली होता है. रात में सोने के पहले इस मंत्र का कम से कम 27 बार जाप करें. इससे आपको कोई भी बीमारी परेशान नहीं करेगी.

चतुराक्षी महामृत्युंजय मंत्र- ‘ऊं हौं जूं स:’ सर्जरी और दुर्घटना जैसी संभावनाएं हो तो ये मंत्र लाभकारी होता है सुबह शिव जी को जल अर्पित करके 3 माला जाप करना चाहिए, इससे हर दुर्घटना से बच सकेंगे.

दशाक्षरी महामृत्युंजय महामंत्र- ‘ऊं जूं स: माम पालय पालय’ इसे अमृत मृत्युंजय मंत्र कहते हैं जिसके लिए इस मंत्र का जाप करना है, उसका नाम इस मंत्र में प्रयोग करें. तांबे के बर्तन में जल भरकर उसके सामने इस मंत्र का जाप करें. फिर उस जल को उसे पिलाएं जिसे आयु या स्वास्थ्य की समस्या हो रही हों.

मृत संजीवनी महामंत्युंजय मंत्र-

ॐ हौं जूं सः ॐ भूर्भुवः स्वः

ॐ त्र्यम्‍बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम्

उर्वारुकमिव बन्‍धनान्

मृत्‍योर्मुक्षीय मामृतात्

ॐ स्वः भुवः भूः ॐ सः जूं हौं ॐ !!

ज्योतिषी कहते हैं कि महामृत्युंजय मंत्र का जाप करने से कोई भी रोग दूर हो जाता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *